द्रोपति मुर्मू कैसे जीती राष्ट्रपति का पद | how to win election of president

जैसे कि आप जानते हैं द्रोपति मुर्मू राष्ट्रपति बन गए हैं एक ऐसे पहली महिला आदिवासी हैं जो राष्ट्रपति बने हैं यह भारत के 15वा राष्ट्रपति हैं इसका राष्ट्रपति पद पर 25 जुलाई को होगा
द्रोपति मनु पहले झारखंड के गवर्नर भी रह चुके हैं गवर्नर का समय 2025 से 2021 तक का था
जानते हैं राष्ट्रपति का वोटिंग कैसे हुआ
हम आपको बता दें कि राष्ट्रपति का वोटिंग में आम जनता वोटिंग नहीं करते हैं। इसमें MP और MLA लोग वोटिंग करते हैं। one person one vote का फंडा नहीं काम करता है
Eligibility of president
Citizen of India
Completed the age of 35 years
FIR for election as a member of the house of people
जब भारत का संविधान बनाया जा रहा था उस टाइम का सविधान का प्रधान Prof K T Sath थे उसका कहना था कि 
“If any Minister chooses to be a candidate then he should first design his post “
(यदि कोई मंत्री उम्मीदवार बनना चाहता है तो उसे पहले अपने पद से इस्तीफा देना चाहिए”)
Who can vote for presidential election in India
अभी बात हो तो राष्ट्रपति इलेक्शन में वोट कौन डालते हैं तो आइए जानते हैं
इसमें electrol college के द्वारा वोट डाला जाता है
लोकसभा और राज्यसभा के बीच में वोट डाला जाता है इसमें टोटल 776 MPs सीट है और 4,033  MLAs सीट है। 

1 वोट की कीमत कैसे निकाले जाते हैं
1 MLA = ( total population of state )
               ————————————————-
                        Number of MALs
           —————————————————-
                        1000
जैसे राज्य के अंदर वोटिंग की जाती है तो बहुत लोग वोट नहीं देते हैं बस इसमें भी उसी तरह है
इस बार राज्यसभा में 5 vacant थे और member of legislative assembly 6 vacant थे और 2 disqualified थे
टोटल 4025 MLAs मे 399 वोट दिए और 771 MP में 763 वोट दिए 
लगभग 99% लोग वोट दें
वोटिंग के समय किसी पार्टी को फोर्स नहीं किया जाता है कि आप पार्टी को वोट देना है
cross vote
उड़ीसा के MLA Mohammed moquim ने द्रोपति मुर्मू का वोट दिए
Mohammed moquim एक Congress party के MLAs हैं 
Success Story of द्रोपति मुर्मू
द्रोपति मुर्मू ने 1997 में बीजेपी ज्वाइन किया
2000 में MLA बने
2004 फिर से MLA बने
2007 में नीलकंठ अवार्ड बेस्ट MLA मिला
2011 में अपने परिवार को किसी दुर्घटना में खो दिया
2015 से 2020 तक झारखंड के गवर्नर बने थे

Leave a Comment

Your email address will not be published.